Saturday, 12 December 2015

punjabi ghazal

सजना मेरी जिंद नरोल 
ऐवे पैरां विच न रोल 

तू वी दिल दे वरके खोल 
मेरा  दिल वी कदी फरोल 

आके दुःख वंडा जा tu 
पल दो पल ते बैजा  कोल  

तेरी चुप नाल रुक दे साँ 
अपने मुँहो कुज ता बोल 

 माही जद वी रुसदा ये 
दिल विच मेरे पैंदे होल 

ख़ाली दिल दा वेडा वेख 
कद आवेंगा मेरे कॉल 

No comments:

Post a Comment