Saturday, 7 April 2012

वक़्त सबसे बड़ा शिकारी है


आज का दौर सच से आरी है
 हर तरफ इक फ़रेबकारी है 

आप मेरा यकीन तो कीजे
 ये ज़मीं चाँद से उतारी 

नन्हे हाथो में एक बच्चे के 
कागज़ी नावं कितनी प्यारी है 

काम आता हैं कौन मुश्किल में 
सिर्फ मतलब की रिश्तेदारी है

मुझ में वो हौसला हैं जीने का
 मौत हर बार मुझसे हारी है

सबको इक दिन शिकार होना है 
वक़्त सबसे बड़ा शिकारी है

उससे मिलने के वास्ते ए सिया
 ये तसव्वुर भी इक सवारी है .....

1 comment:

  1. नन्हे हाथो में एक बच्चे के
    कागज़ी नावं कितनी प्यारी है
    kitni aasaani se kya kya kah deti ho...gud

    tumne kaano me jo kaha hai mujhse
    siya wo baat to kitni pyaari hai

    ReplyDelete