Wednesday, 28 November 2012

ये खुला आसमान है लोगों


हसरतों की उडान है लोगों 
ये खुला आसमान है लोगों 

हर तरफ खून क़त्ल बर्बादी 
फिर भी भारत महान है लोगों  

कुछ न कोई बिगाड़ पायेगा 
वक़्त जब मेहरबान है लोगों  

हम जहाँ पर क़याम करते है 
वो ज़मीं आसमान है  लोगों  

ज़ख्म जो था वो भर गया लेकिन 
दिल पे अब भी निशान है लोगों  

उसके दिल में भी झाँक कर देखो 
जिसकी मीठी ज़बान है  लोगों  

उनकी  तस्वीर क्या बनाऊ मैं 
कैनवस  पर थकान है लोगों 

हर मर्ज़ का ईलाज है मुमकिन 
सब ग़मों का निदान है लोगों 

अपने क़द का भी जायज़ा लेलो 
कितनी झूठी ये शान है लोगों 

मुझको दुनिया से क्या ग़रज़ है सिया 
मेरा अपना जहान है लोगों 

hasratoN ki udan hai logo'N  ye khula asman hai logo'N 
har taraf khoon qatl barbadi phir bhi bharat mahaan hai logo'N kuchh na koi bigad payega waqt jab mehrbaan hai logo'N ham jahan par qayam karte hai wo zameeN asman hai logo'N  zakhm jo tha wo bhar gaya lekin dil pe ab tak nishan hai logo'N  uske dil men bhi jhaNk lete zara jiski meethi zabaan hai logo'N  teri tasveer kya banauN main   canvas par thakaan hai logo'N 

har maraz ka ilaaj hai mumkin sab ghamoN ka nidaan hai logo'N  apne qad ka bhi jayeza lelo kitni jhoothi ye shan hai logo'N 

mujh ko duniya se kya gharaz hai siya mera apna jahan hai logo'N 







No comments:

Post a Comment