Wednesday, 6 April 2011

प्यार के रंग

आ मेरी ज़िन्दगी में प्यार के कुछ रंग भर दे 
मैं अधूरी हूँ मुझे आ तू मुक़म्मल कर दे 

 होश उड़ जाये तेरे, इतना मैं चाहूँ तुझको
अपनी चाहत से मुझे यार तू पागल कर दे 

मैंने मेहंदी से हथेली पर तेरा नाम लिखा
तू मेरे सर पे अपने नाम का आँचल कर दे 

मेरे माथे पे सजे बिंदिया पिया तेरे लिए
मेरी आँखों में अपने प्यार का काजल भर दे 

उम्र भर यूँ ही तेरा साथ निभाएगी "सिया"
अपनी पलकों में बसा दुनिया से ओझल कर दे 

सिया





1 comment:

  1. aa piya en nainan main main palak dhamp tohe doon
    na main dekhun gair ko na main tohe dekhan doon
    kaajal daroon kirkarra jo surma diya na jaye
    jin nainan main piya base bhala dooja kaun samaye...

    ReplyDelete