Tuesday, 19 April 2011

इश्क से जिंदगी हसीन हैं


इश्क कहने को दो अल्फाज़ है 
ये ही जीने का सबसे हसीन राज़ हैं  

इसको शिद्दत से चाहो  तो बंदगी है
ना दिल में हो तो क्या जिंदगी है  

इसमें  उतरो तो गहरा सागर है 
 डूब जाओ  इसमें  तो जिंदगी है 

यू तो कहना इसे आसान लगे 
 निभा पाओ तो बहुत मुश्किल है 

इश्क से जिंदगी में रौशनी है 
ना मिले  तो तनहा सी जिंदगी है 

ईश्क में ही सच्ची ख़ुशी है 
इश्क से जिंदगी हसीन हैं 

No comments:

Post a Comment